Dainik Navajyoti Logo
Monday 22nd of July 2019
शिक्षा जगत

अपनी गर्लफ्रेंड को लेकर IAS टॉपर कनिष्क कटारिया ने कहीं ये चौंकाने वाली बातें

Sunday, April 07, 2019 10:25 AM
अपने परिवार के साथ कनिष्क कटारिया

जयपुर। संघ लोक सेवा आयोग की ओर से शुक्रवार को घोषित सिविल सर्विस 2018 के नतीजों में देशभर में टॉपर रहे जयपुर निवासी कनिष्क कटारिया ने अपने इंटरव्यू में इसका श्रेय अपनी गर्ल फ्रेण्ड को भी दिया है। इस संबंध में दैनिक नवज्योति संवाददाता ने शनिवार को कनिष्क से फिर बात की और सवाल किए। सवालों के जवाब में कनिष्क ने अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में खुलासा तो नहीं किया, लेकिन उन्होंने इतना जरूर बताया कि उसने मेरे लिए जो किया उसे मैं बयां नहीं कर सकता और उसे क्रेडिट देना बहुत ही जरूरी था। उसने मेरे लिए जो भी किया वह आज के जमाने में किसी गर्ल फ्रेंड के लिए बमुश्किल है।

कनिष्क से बातचीत के कुछ अंश इस प्रकार है
प्रश्न : रूढ़ीवादी और ढकोसलों से भरे वर्तमान समय में भारतीय संस्कृति में यह बात थोड़ी अजीब सी लगती है कि आपने अपने माता पिता और बहन के साथ अपनी गर्ल फ्रेंड को भी सफलता का श्रेय दिया। ऐसा कह पाना आपके लिए कैसा रहा? 
उत्तर : यह बात सही है कि कोई भी व्यक्ति सफलता का श्रेय अपनी गर्ल फ्रेंड को देने से पहले दस बार सोचता है, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया जो सच था वही सबके सामने बोला है। मैं फिर बोल रहा हूं कि जो सहयोग आईएएस बनने में मेरी गर्ल फ्रेंड ने मुझे किया उसको मैं जीवनभर नहीं भूल सकता हूं और इस समय उसे भी क्रेडिट देना मैंने उचित समझा।

प्रश्न : जब आपने अपनी सफलता में अपनी गर्ल फ्रेंड का जिक्र किया तो आपके पैरेंट्स और उसके पैरेंट्स की क्या प्रतिक्रिया रही?                      

उत्तर : सफलता का क्रेडिट जब मैंने गर्ल फ्रेंड को दिया तो मेरे पैरेंट्स और उसके पैरेंट्स बहुत खुश हुए। हम दोनों के पैरेंट्स को मालूम है कि वे मेरी अच्छी मित्र है।

प्रश्न : आपकी गर्ल फ्रेंड का इसपर क्या नजरिया रहा, जब आपने उसे अपनी सफलता का श्रेय दिया?
उत्तर : वह बेहद खुश थी। उसने जो कुछ मेरे लिए किया उसके सामने उसको क्रेडिट देना बहुत मामूली तोहफा है।

प्रश्न : आपकी गर्ल फ्रेंड ने किस तरह यहां पहुंचने में मदद की?
उत्तर : उसने हमेशा मुझे मोरल सपोर्ट किया। पॉजीटिव फिलिंग्स करवाई, मुझे हर बार इस बात के लिए प्रेरित किया कि मैं यूपीएससी की परीक्षा अच्छे नम्बरों से पास करूं। उसने मुझे मोटिवेट करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। उसने बाहर रहते हुए भी मुझे उम्मीद से ज्यादा सपोर्ट किया, जो उसके लिए काफी मुश्किल था।

प्रश्न : आपकी गर्ल फ्रेंड क्या कर रही है, उनकी शिक्षा, उनका नाम और पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में कोई जानकारी देंगे?
उत्तर : मैं सिर्फ  इतना सा बताना चाहूंगा कि वह जापान में एक प्रतिष्ठित कम्पनी में काम करती है। इससे ज्यादा उसके बारे में बताना मैं उचित नहीं समझता, लेकिन इस जमाने में ऐसी गर्ल फ्रेंड मिलना भी मेरे लिए सौभाग्य की बात है। उसने निस्वार्थ मेरी मदद की और यहां तक पहुंचाने में अमूल्य योगदान दिया। जिसे भुलाया नहीं जा सकता।

प्रश्न : रूढ़ीवादी और ढकोसलों से भरे वर्तमान समय में भारतीय संस्कृति में यह बात थोड़ी अजीब सी लगती है कि आपने अपने माता पिता और बहन के साथ अपनी गर्ल फ्रेंड को भी सफलता का श्रेय दिया। ऐसा कह पाना आपके लिए कैसा रहा? 
उत्तर : यह बात सही है कि कोई भी व्यक्ति सफलता का श्रेय अपनी गर्ल फ्रेंड को देने से पहले दस बार सोचता है, लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया जो सच था वही सबके सामने बोला है। मैं फिर बोल रहा हूं कि जो सहयोग आईएएस बनने में मेरी गर्ल फ्रेंड ने मुझे किया उसको मैं जीवनभर नहीं भूल सकता हूं और इस समय उसे भी क्रेडिट देना मैंने उचित समझा।

प्रश्न : जब आपने अपनी सफलता में अपनी गर्ल फ्रेंड का जिक्र किया तो आपके पैरेंट्स और उसके पैरेंट्स की क्या प्रतिक्रिया रही?                      

उत्तर : सफलता का क्रेडिट जब मैंने गर्ल फ्रेंड को दिया तो मेरे पैरेंट्स और उसके पैरेंट्स बहुत खुश हुए। हम दोनों के पैरेंट्स को मालूम है कि वे मेरी अच्छी मित्र है।

प्रश्न : आपकी गर्ल फ्रेंड का इसपर क्या नजरिया रहा, जब आपने उसे अपनी सफलता का श्रेय दिया?
उत्तर : वह बेहद खुश थी। उसने जो कुछ मेरे लिए किया उसके सामने उसको क्रेडिट देना बहुत मामूली तोहफा है।

प्रश्न : आपकी गर्ल फ्रेंड ने किस तरह यहां पहुंचने में मदद की?
उत्तर : उसने हमेशा मुझे मोरल सपोर्ट किया। पॉजीटिव फिलिंग्स करवाई, मुझे हर बार इस बात के लिए प्रेरित किया कि मैं यूपीएससी की परीक्षा अच्छे नम्बरों से पास करूं। उसने मुझे मोटिवेट करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। उसने बाहर रहते हुए भी मुझे उम्मीद से ज्यादा सपोर्ट किया, जो उसके लिए काफी मुश्किल था।

प्रश्न : आपकी गर्ल फ्रेंड क्या कर रही है, उनकी शिक्षा, उनका नाम और पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में कोई जानकारी देंगे?
उत्तर : मैं सिर्फ  इतना सा बताना चाहूंगा कि वह जापान में एक प्रतिष्ठित कम्पनी में काम करती है। इससे ज्यादा उसके बारे में बताना मैं उचित नहीं समझता, लेकिन इस जमाने में ऐसी गर्ल फ्रेंड मिलना भी मेरे लिए सौभाग्य की बात है। उसने निस्वार्थ मेरी मदद की और यहां तक पहुंचाने में अमूल्य योगदान दिया। जिसे भुलाया नहीं जा सकता।