Dainik Navajyoti Logo
Sunday 15th of September 2019
शिक्षा जगत

JEEAdvanced2019 का परिणाम घोषित, कार्तिकेय ने किया ऑल इंडिया टॉप

Friday, June 14, 2019 13:55 PM
ऑल इंडिया टॉपर कार्तिकेय गुप्ता

जयपुर। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी), रुड़की ने शुक्रवार को सुबह 10 बजे संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई एडवांस-2019) का परिणाम घोषित किया, इसमें एलन करिअर इंस्टीट्यूट के कार्तिकेय गुप्ता ने ऑल इंडिया फर्स्ट रैंक हासिल करके देशभर में एलन का नाम रोशन किया है। गुप्ता एलन, मुम्बई, महाराष्ट्र का नियमित क्लासरूम का विद्यार्थी है। उन्होंने 100 पर्सेंटाइल स्कोर किया। कार्तिकेय गुप्ता ने 372 में से 346 अंक प्राप्त किए है। गुप्ता को ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन मेन में 18वीं रैंक मिली थी।

छात्राओं में शुभनाम सहाय ने टॉप किया है, उनको 372 में से 308 अंक प्राप्त किए हैं। जेईई एडवांस के परिणाम में 38705 विद्यार्थी पास हुए हैं, इसमें 5356 छात्राएं हैं। जयपुर में पीयूष राज ने एसटी कैटेगरी में टॉप किया है। परीक्षा में हिस्सा लेने वाले छात्र और उनके अभिभावक जेईई की ऑफिशियल वेबसाइट जेईईएडीवी.एसी.इन पर जाकर रिजल्ट डाउनलोड कर सकते हैं।


एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के निदेशक ब्रिजेश माहेश्वरी ने बताया कि गुप्ता ने एलन के नाम में एक बार फिर से चार चांद लगा दिए है। उन्होंने बताया कि इससे पहले एलन के छात्रों ने जेईई मैन्स, नीट, ओलंपियाड, एम्स के परिणाम में ऑल इंडिया स्तर पर प्रथम रैंक प्राप्त करके देशभर में एलन का दबदबा कायम किया था। इसके बाद अब शुक्रवार को जारी जेईई एडवांस्ड के नतीजे में भी अपनी धाक जमाई है। माहेश्वरी ने बताया कि देशभर के एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के छात्रों ने बेहतर रैंक प्राप्त की है। ऐसे में एलन इंस्टीट्यूट में जश्न का माहौल और छात्रों व स्टॉफ ने एक-दूसरे को मिठाइयां बांटी।

जयपुर के कई छात्रों को मिली टॉप-200 में जगह
एलन जयपुर के हैड आशीष अरोड़ा ने बताया कि जेईई एडवांस्ड के परिणाम में जयपुर के कई छात्रों ने अखिल भारतीय रैंकिंग टॉप-200 में जगह बनाई है। उन्होंने बताया कि पिछले सालों के मुकाबले इस बार जेईई मैन्स के बाद जेईई एडवांस्ड में भी शहर और प्रदेश से चयनीत होने वाले छात्रों की संख्या बड़ी है।

महाराष्ट्र के छोटे से कस्बे का छात्र अव्वल
एलन निदेशक माहेश्वरी ने बताया कि एलन मुम्बाई के छात्र कार्तिकेय गुप्ता महाराष्ट्र के छोटे से कस्बे चंद्रपुर निवासी है। कार्तिकेय ने इससे पहले जेईई मेन परीक्षा-2019 में भी 100 पर्सेन्टाइल स्कोर कर ऑल इंडिया 18वीं रैंक की तथा महाराष्ट्र स्टेट का सैकंड टॉपर रहा। इसी वर्ष 12वीं कक्षा 93.7 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण की।

टॉप करने की नहीं सोचा था
कार्तिकेय ने बताया कि आईआईटी मुम्बई में सीएस ब्रांच मिलने को लेकर निश्चिंत था लेकिन, ऑल इंडिया टॉप करूंगा, ऐसा नहीं सोचा था। मैं वर्ष 2017 से एलन में पढ़ाई कर रहा हूं। यहां टीचर्स स्टूडेंट्स के साथ काफी मेहनत करते हैं। स्टूडेंट का लक्ष्य होता है आईआईटी में जाना और टीचर का लक्ष्य होता है। स्टूडेंट को जेईई में सफलता दिलाना। पढ़ाई के दौरान कोई भी डाउट्स हो, टीचर्स हमेशा मदद के लिए तैयार रहते थे। अच्छे पढऩे वाले दोस्त यहां मिले, पढ़ाने वाले ऐसे शिक्षक मिले जो पूरे देश में कहीं उपलब्ध नहीं होते। उन्होंने बताया कि नियमित रूप से रेगुलर क्लास के अलावा 6 से 7 घंटे का शेड्यूल बनाकर सेल्फ स्टडी करता था। खुद का एनालिसिस करने के लिए मॉक टेस्ट भी देता था। परफॉर्मेन्स में सुधार के लिए वीकली टेस्ट भी देता था। सबसे मुख्य बात थी कि मैं रोजाना पढ़ाई के दौरान जो डाउट्स आते थे, उन्हें उसी दिन क्लीयर करता था। डाउट क्लीयर करने के बाद ही मैं रात को सोता था।

शांत दिमाग रहकर पढ़ाई करें
गुप्ता ने स्टूडेंट्स से कहा कि लक्ष्य प्राप्ति के लिए शांत दिमाग रखकर तैयारी करें। आपका मुकाबला खुद से है। पढ़ाई को एंजॉय करें। जो भी विषय पढ़े, उसे मन से पढ़ें। सबसे मुख्य बात है टीचर्स की गाइडलाइंस को फॉलो करना। रेगुलर क्लास के बाद डेली का होमवर्क कम्पलीट करें। इससे डाउट्स सामने आते हैं और रिवीजन भी अच्छे से होता है। बेहतर होगा कि रोजाना की पढाई के लिए प्लानिंग करें। लगातार बैठकर पढ़ाई नहीं करे। प्रत्येक दो घंटे के बाद खुद को रिलैक्स करें। सोशल मीडिया इस्तेमाल नहीं करता। की-पेड वाला फोन इस्तेमाल किया।

रामानुजन हैं मेरे आदर्श

कार्तिकेय ने कहा कि महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन मेरे आदर्श हैं, क्योंकि उन्होंने काफी कम संसाधनों व सुविधाओं में गणित विषय के लिए जो योगदान किया, वो अतुलनीय है। आईआईटी मुम्बई की सीएस ब्रांच से इंजीनियरिंग करने का मेरा सपना अब साकार होने जा रहा है।

कार्तिकेय के भाई भी कर रहा इंजीनियरिंग
गुप्ता ने कहा कि वर्ष 2017 व 2018 में केवीपीवाय क्वालिफाई किया। इसके अलावा आईएनपीएचओ, आईएनसीएचओ, आईएनएओ एवं आईएनजेएसओ क्वालिफाइड हूं। पिता चन्द्रेश गुप्ता पेपर इण्डस्ट्री में जनरल मैनेजर और मां पूनम गुप्ता गृहिणी है। माता-पापा का पढ़ाई के दौरान काफी सपोर्ट मिला। चन्द्रपुर से लगातार मुझसे संपर्क में रहते थे। बड़ा भाई भारतीय विद्या भवन सरदार पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मुम्बई से सीएस ब्रांच में इंजीनियरिंग कर रहा है।

फाइनल आंसर की भी जारी
आईआईटी रुड़की ने जेईई एडवांस 2019 का रिजल्ट जारी करने से कुछ घंटे पहले जेईई एडवांस्ड की फाइनल आंस की भी जारी की है। जिससे की विद्यार्थी अपना परिणाम उससे मैच कर सकते है।

यह थे परीक्षा देने वाले छात्र
जेईई एडवांस्ड की परीक्षा का आयोजन 27 मई को देशभर के 155 शहरों में किया गया था। परीक्षा दो पालियों सुबह 9 से 12 और दोपहर 2 से 5 बजे तक आयोजित की गई थी। बता दें, इस जेईई एडवांस परीक्षा में 2,45,000 से अधिक परीक्षार्थी योग्य थे, लेकिन परीक्षा के लिए 1.65 लाख स्टूडे्ट्स ने रजिस्ट्रेशन किया था।

यह हैं सीटें
जेईई एडवांस में पास होने वाले छात्र देश के प्रतिष्ठित 23 आईआईटी संस्थानों की 11279 सीटों पर एडमिशन लेने का मौका मिलेगा। इसके तहत छात्र बीटेक, बीएस, बीआर्क जैसी स्नातक डिग्रियों की पढ़ाई करेंगे।

ऐसे मिले सुधार के दो मौके
इस साल जेईई मेन का संचालन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी, एनटीए द्वारा किया गया है। जेईई मेन में सफल होने वाले कैंडीडेट्स को का एक बार नहीं बल्कि दो बार छात्रों को जेईई एडवांस में उपस्थित होने और या अपनी जेईई मेन रैंक में सुधार करने के लिए अर्हता प्राप्त करने का दोहरा अवसर प्रदान किया था।

इनमें भी कर सकेंगे आवेदन
आईआईटी जेईई एडवांस 2019 के रिजल्ट के आधार पर राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम टेक्नोलॉजी, रायबरेली, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बंगलुरु , इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी, छह इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च ( आईआईएसईआर) में प्रवेश के लिए उम्मीदवार भी आवेदन कर सकते हैं।  

काउंसलिंग की तारीख

जेईई एडवांस 2019 के लिए काउंसलिंग और सीट आवंटन की प्रक्रिया 19 जून से शुरू होकर 17 जुलाई 2019 तक चलेगी। जेईई एडवांस के परीणाम के आधार पर आईआईटी के अलावा राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ पेट्रोलियम टेक्नोलॉजी, रायबरेली (आरजीआईपीटी), इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बंगलुरु (आईआईएससी), इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईआईएसटी), 6 इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च (आईआईएसईआर) में प्रवेश के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।