Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of October 2019
शिक्षा जगत

बढ़ता प्लेसमेंट का दायरा, छात्रों को मिला बेहतर पैकेज

Thursday, September 19, 2019 15:25 PM
विद्यार्थियों को जॉब मिल रही है।

जयपुर। प्रदेशभर के सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों व कॉलेजों में नया शैक्षणिक सत्र शुरू हुए डेढ़ महीना ही हुआ है और शहर के विद्यार्थियों को जॉब मिल रही है। जेईसीआरसी फाउंडेशन ने छात्रों के रोजगार को ध्यान में रखते हुए प्लेसमेंट करवाकर छात्रों को जॉब आॅफर करवाने का काम कर रही है। पहले चरण में मल्टीनेशनल कंपनी एक्सेंचर, टीसीएस, पिनाकल, बाइजूस, डेलॉइट, माइंडट्री, जेडएस एसोसिएट्स और कैपजैमिनी सहित अन्य कंपनियां फाउंडेशन में पहुंची है।

प्रदेश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि जब अगस्त में इन बड़ी कंपनियों ने अपनी प्लेसमेंट ड्राइव शुरू किया है। जेईसीआरसी में कैंपस प्लेसमेंट के शुरुआती दो दिनों में ही 823 विद्यार्थियों का चयन हुआ है। ऐसे में फाउंडेशन दिन-प्रतिदिन उच्च शिक्षा में आगे बढ़ता जा रहा है और छात्रों को अच्छी नौकरी भी आॅफर करवा रहा है। यह सब छात्रों को दी जा रही बेहतर शिक्षा के कारण ही संभव हो सका है। जबकि जेईसीआरसी में दूसरे चारण के प्लेसमेंट अब होंगे। ऐसे में छात्रों के चयन के आंकड़े और बढ़ेंगे। गौरतलब है कि पिछले 15 सालों में 700 से अधिक कंपनियों ने फाउंडेशन के साढ़े दस हजार छात्रों को जॉब दिलवाई है।

इन बच्चों को मिल रहा बराबर का मौका
इस साल के प्लेसमेंट सीजन में कम्प्यूटर साइंस के चुनने वाले बच्चों के साथ ही आईटी कंपनीज ने इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और सिविल जैसी कोर ब्रांचेज के विद्यार्थियों को भी बराबर का मौका दिया है।

बढ़ा सालदर साल पैकेज
प्लेसमेंट के दौरान लगभग 20 फीसदी से अधिक सालाना पैकेज बढ़ा है, जिसका विद्यार्थियों को फायदा मिल रहा है। जहां पहले औसत पैकेज 3 से साढ़े तीन लाख रुपए सालाना होता था। वहीं इस बार 4.5 लाख तक कंपनियों ने आॅफर किया है। इस बार खास बात यह है कि इस बार छात्राओं का प्लेसमेंट का ग्राफ  बढ़ा है।

जेईसीआरसी के प्लेसमेंट डायरेक्टर प्रो. मुक्त बिहारी ने कहा कि आईटी कंपनीज ने कंट्रक्शन, फाउनेंस, आॅपरेशंस व मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर्स में अनेक प्रोजेक्ट्स की शुरूआत की है, जिससे इन सेक्टर्स में छात्रों को नौकरी मिलने की संभवना बढ़ी है।

जेईसीआरसी में छात्रों को दी जा रही बेहतर पढ़ाई और दो सौ घंटें की प्री-प्लेसमेंट ट्रेनिंग के चलते मल्टीनेशनल कंपनियों ने पहले चरण में प्लेसमेंट के लिए फाउंडेशन का चयन किया है, जिससे बड़ी संख्या में छात्रों को जॉब मिल पाई है।
- अर्पित अग्रवाल, डायरेक्टर, जेईसीआरसी फाउंडेशन