Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of October 2019
शिक्षा जगत

राजस्थान बोर्ड किताबों की खामियां दूर करेंगे विशेषज्ञ

Friday, September 20, 2019 17:40 PM
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (फाइल फोटो)

जयपुर। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने नया शैक्षणिक सत्र शुरू होने से पहले की पाठयक्रम की गलतियों को दूर करने की तैयारी कर ली हैं। यही कारण है कि बोर्ड अब किताबों की गलतियों को विशेषज्ञों से ढूंढवाएगा। पाठयक्रम में गलतियों की भरमार को देखते हुए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने विशेषज्ञों से कहा है कि वह पाठयक्रम में किसी भी तरह की गलती होने पर अपनी आपत्ति बोर्ड को दे सकते हैं। बोर्ड की ओर से लिखित और राजस्थान राज्य पाठ्यक्रम मंडल जयपुर द्वारा मुद्रित पाठयक्रम इन्हें दिया गया है, जिसमें कक्षा 9वीं से 12वीं तक की किताबों में किसी भी तरह की त्रुटि होने पर उसके लिए संशोधन के सुझाव मांगे गए हैं। किसी भी त्रुटि को लेकर लिखित में बोर्ड कार्यालय में आपत्ति दर्ज करवा सकेंगे। हालांकि किसी भी प्रकार की त्रुटि को तथ्यों के साथ बताना होगा, जिससे की उसमें कमेटी बनाकर सुधार करवाया जा सकेंगा।

अधूरे चैप्टर और नक्शे से सम्बंधित त्रुटियों की भरमार

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के कक्षा 9वीं और 10वीं के विद्यार्थियों की किताबों में कई तरह की गलतियां देखने को मिली थी। जिससे विद्यार्थी गलत पाठ्यक्रम ही पढ़ रहे थे। कक्षा 9वीं की सामाजिक विज्ञान में अध्याय 13 में पेज नंबर 127 पर जो नक्शा था। जिसमें सिक्किम को भारतीय सीमा से बाहर दिखाया गया था। इसके अलावा कक्षा 10वीं की सामाजिक विज्ञान के अध्याय 10 में पेज नंबर 124 पर प्रकाशित नक्शे से कश्मीर कटा हुआ था। वहीं अध्याय 9 में पेज नंबर 113 पर भारतीय मुख्य फसलें और कृषि क्षेत्र का नक्शा प्रकाशित था। जिसमें ढेरों गलतियां थी। पाठ्यक्रम में गलत नक्शे, खाली पन्नों, अधूरे चैप्टर्स सहित कई तरह की गलतियां थी। हालांकि बोर्ड ने बाद में इन्हें सुधार लिया था, लेकिन तब तक विद्यार्थी गलत पाठयक्रम ही पढ़ रहे थे। लेकिन अब पहले ही बोर्ड ने गलतियां सुधारने के लिए पाठयक्रम पर आपत्ति मांग ली है, जिससे की विद्यार्थियों को सही तथ्यातमक पाठयक्रम पढ़ाया जा सकें। शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि स्कूल शिक्षा की किताबों में जो भी खामिया है, उसको दूर करने का सरकार प्रयास कर रही है।