Dainik Navajyoti Logo
Thursday 20th of June 2019
भारत

विमान अपहरण कानून के तहत सजा, व्यापारी को उम्रकैद और 5 करोड़ का जुर्माना

Wednesday, June 12, 2019 10:25 AM
मुंबई के आभूषण व्यापारी बिरजू सल्ला

अहमदाबाद। देश में नए और कड़े विमान अपहरण कानून के तहत पहली सजा के तौर पर गुजरात में अहमदाबाद स्थित राष्ट्रीय जांच एजेंसी की विशेष अदालत ने लगभग दो साल पहले जेट एयरवेज के एक विमान में अफरातफरी मचाने वाले मुंबई के आभूषण व्यापारी बिरजू सल्ला को मंगलवार को उम्रकैद और पांच करोड़ रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई।

सल्ला ने 30 अक्टूबर 2017  को जेट एयरवेज की मुंबई से दिल्ली जा रही उड़ान के टॉयलेट में अंग्रेजी और  उर्दू में लिखा एक पत्र रख दिया जिसमें इसे सीधे पाक अधिकृत कश्मीर ले  जाने की धमकी दी गई थी। इसमें लिखा गया था कि विमान में 12 अपहरणकर्ता हैं और इसके मालवाहक क्षेत्र में विस्फोटक भरे हैं। अगर विमान को अन्यत्र उतारा गया तो तबाही मच जाएगी। उसने यह पत्र अंग्रेजी में तैयार कर इसका उर्दू अनुवाद गूगल अनुवादक के जरिए मुंबई के अपने कार्यालय में उड़ान के दिन ही किया था।

पूर्व महिला मित्र को पाने के लिए रखा पत्र
उसने कबूल किया कि उसने इसी विमान कंपनी में कर्मी रही अपनी पूर्व महिला मित्र को फिर से पाने की उम्मीद और विमान कंपनी को बदनाम और बंद कराने की नीयत से अपहरण संबंधी पत्र लिखा था। विमान को अहमदाबाद में आपात स्थिति में उतारना पड़ा था। इसके बाद में उसी विमान के बिजनेस क्लास में यात्रा कर रहे सल्ला को गिरफ्तार किया गया था।

यात्रियों और क्रू मेंबर को देना होगा हर्जाना
विशेष जज एमके दवे की अदालत ने उसे एंटी हाईजैकिंग एक्ट 2016 के तहत उम्रकैद की सजा के साथ पांच करोड़ के अर्थदंड की सजा सुनाई। उसे पायलट तथा को-पायलट को एक-एक लाख, पांच एयर होस्टेस को 50-50 हजार और उस समय विमान में रहे सभी 115 यात्रियों को 25-25 हजार रुपए का हर्जाना देना होगा।