Dainik Navajyoti Logo
Thursday 22nd of August 2019
भारत

जम्मू कश्मीर में हिन्दुओं की संख्या अधिक होती तो भाजपा 370 नहीं हटाती: चिदंबरम

Tuesday, August 13, 2019 11:50 AM
पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम(फाइल फोटो)

चेन्नई। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम ने कहा कि जम्मू कश्मीर के मुस्लिम बहुल प्रदेश होने के कारण ही संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाया गया है। चिदंबरम ने कहा कि अगर जम्मू कश्मीर में हिन्दुओं की संख्या अधिक होती तो भाजपा यह कदम नहीं कभी नहीं उठाती। उन्होंने केंद्र की भाजपा नीत सरकार पर सत्ता के बल का उपयोग करते हुए जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए तीखी आलोचना की। उन्होंने आरोप लगाया कि देश के 70 साल के इतिहास में पहली बार किसी राज्य के टुकड़े कर केन्द्र शासित राज्य बना दिया गया।

चिदंबरम ने इस मुद्दे को लेकर विपक्षी पार्टियों के रूख पर असंतोष जताया और कहा कि लोकसभा में भले ही बहुमत नहीं था, लेकिन अन्नाद्रमुक, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी, तेलंगाना राष्ट्र समिति, बीजू जनता दल, आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस और जनता दल(यूनाइटेड) ने सहयोग किया होता तो यह विधेयक राज्यसभा में पारित नहीं हो पाता। उन्होंने कहा कि विपक्ष का रवैया बहुत खेदजनक है।

चिदंबरम के बयान की भाजपा ने की आलोचना
भाजपा के नेताओं ने चिदंबरम के बयान की तीखी आलोचना की है। केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण बयान है। यह बयान केवल लोगों को भड़का सकता है। उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में कश्मीर में बहुत से लोगों की जानें गयी है और इनमें मुस्लिम भी शामिल हैं। अनुच्छेद 370 को हटाने का निर्णय  देशहित में लिया गया है। अनुच्छेद 370 के नाम पर इन सालों में मुस्लिमों को भेदभाव और अन्याय का सामना करना पड़ा।

सुब्रमण्यम स्वामी ने चिदंबरम के बयान पर निशाना साधते हुए कहा कि देश को आजादी दिलाने का दावा करने वाली कांग्रेस पार्टी आज एक दुश्मन देश की राह पर चल रही है और वह देश पाकिस्तान है।