Dainik Navajyoti Logo
Sunday 19th of May 2019
दुनिया

रूस अगले 15 वर्ष में 50 उपग्रह लांच करेगा

Thursday, May 09, 2019 14:50 PM

मॉस्को। रूस की वर्ष 2034 तक वैश्विक दिशासूचक उपग्रह प्रणाली ग्लोनास के लिए 46 उपग्रहों को लांच करने की योजना है। रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रॉसकॉसमॉस ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। सूत्रों के अनुसार गत अप्रैल में रॉकेट एवं अंतरिक्ष उद्योग ने स्पूतनिक को बताया था कि रूसी प्लेसेत्स्क कॉस्मोड्रोम से ग्लोनास-एम दिशासूचक उपग्रह का प्रक्षेपण की तारीख 13 मई से आगे बढ़ाकर 27 मई कर दी गयी है। रॉसकॉसमॉस के अनुसार अंतरिक्ष एजेंसी ने 2019 से 2033 के बीच चार ग्लोनास-एम सैटलाइट, नौ ग्लोनास-के सैटलाइट और 33 ग्लोनास-के2 व्हीकल लांच करने की योजना बनायी है। यह विशेष रूप से 2019, 2020, 2021, 2022, 2023, 2024, 2025, 2026, 2029, 2030, 2032 और 2033 में योजनाबद्ध तरीके से लांच होंगे।

ग्लोनास तारामंडल में मौजूदा समय में कुल 26 उपग्रह शामिल हैं, जिसमें 24 ग्लोनास-एम और दो ग्लोनास-के व्हीकल भी शामिल हैं। पहला ग्लोनस-के उपग्रह 2011 में लॉन्च किया गया था और वर्तमान में उसका उड़ान परीक्षण चल रहा है। इस प्रकार दूसरा व्हीकल 2014 में लॉन्च किया गया था जो 2016 से परिचालन में है। इनसे यह भी पता चला कि प्रोटॉन-एम रॉकेटों का उपयोग अब ग्लोनास उपग्रहों को कक्षा में लाने के लिए नहीं किया जाएगा। इसकी बजाय सोयुज-2.1बी और अंगारा ए5 रॉकेट का उपयोग इस उद्देश्य के लिए किया जाएगा।