Dainik Navajyoti Logo
Thursday 20th of June 2019
जयपुर

राजस्थान: पुलिसकर्मी ने अनपढ़ महिला के साथ 11 साल तक किया दुष्कर्म

Wednesday, April 24, 2019 10:00 AM
कॉन्सेप्ट फोटो

जयपुर। राजस्थान के पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग किसी भी सूरत में अन्याय नहीं होने का वादा कर पीड़ितों को न्याय देने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं, लेकिन पुलिस से परेशान पीड़ितों को ही न्याय नहीं मिल पा रहा है। हालात इस कदर बदतर हैं कि पुलिसकर्मी की प्रताड़ना की शिकार महिला न्याय के लिए दर-दर भटक रही है। महिला ने इस बार डीजीपी कपिल गर्ग से गुहार लगाई है। जांच अधिकारी एसीपी संध्या यादव ने खुद के पास फाइल नहीं होने की बात कही है, जबकि डीसीपी पश्चिम विकास शर्मा ने फाइल एसीपी सदर संध्या यादव के पास ही होना बताई है। पीड़िता का कहना है कि एसीपी साहब कह रही हैं कि जब टाइम मिलेगा, तब फाइल की जांच होगी। ऐसे में पीड़िता को न्याय मिलना दूर की कौड़ी साबित होता नजर आ रहा है।

यह है मामला
पीड़ित महिला ने बताया कि वह करीब 11 साल पहले सदर थाना इलाके में मजदूरी करती थी। थाने में तैनात पुलिसकर्मी वजीर सिंह ने उससे कहा मेरी पत्नी भी नहीं है और तेरा पति छोड़कर चला गया है। मैं तुझसे शादी कर लूंगा और साथ रखूंगा। विश्वास जीतने के लिए पुलिसकर्मी उसे हरिद्वार लेकर गया, जहां उसने शादी करने की सौगंध खाई। उसके बाद वह लगातार दुष्कर्म करता रहा और शादी का झांसा देता रहा। जब भी वह शादी की बात करती तो पीटना शुरू कर देता। इसकी रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई तो वहां पुलिसकर्मियों ने उसे बचाने का प्रयास किया। जब न्याय नहीं मिला तो महानिदेशक पुलिस कपिल गर्ग के यहां शिकायत दी है।

लिव-इन-रिलेशनशिप का किया एग्रीमेंट
महिला ने खुद को अनपढ़ बताते हुए कहा है कि मैं उससे शादी करना चाहती थी, लेकिन उसने मुझे छोड़ दिया। झांसे में लेकर कई कागजों पर अंगूठा लगवाया। पुलिसकर्मी वजीर ने 500 रुपए के स्टाम्प पर महिला से लिव-इन-रिलेशनशिप का एक अनुबंध पत्र तैयार किया, जिसमें साथ रहने की बात लिखी गई है।

फोन नहीं किया रिसीव
पीड़िता के बताए पुलिसकर्मी के मोबाइल नंबर पर सम्पर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन फोन रिसीव नहीं किया।

इनका कहना
ऐसे किसी मामले की मुझे कोई जानकारी नहीं है और ना ही मेरे पास ऐसी कोई फाइल है।- संध्या यादव, एसीपी सदर

दुष्कर्म प्रकरण की जांच एसीपी सदर संध्या यादव को ही सौंपी गई है। वही इस मामले की जांच कर रही हैं। - विकास शर्मा, पुलिस उपायुक्त पश्चिम