Dainik Navajyoti Logo
Thursday 20th of June 2019
जोधपुर

फॉर्मेसी में प्रवेश रोकने पर भड़के छात्र, कुलपति कार में बैठे रहे

Tuesday, June 11, 2019 01:10 AM

जोधपुर। व्यास विश्वविद्यालय में फॉर्मेसी विभाग के कोर्सेज में अचानक से मौखिक फरमान पर ही प्रवेश बंद करने से मंगलवार को छात्र भड़क गए। छात्रों ने केन्द्रीय कार्यालय में करीब घंटे भर तक प्रदर्शन किया। इस दौरान कुलपति से हुई वार्ता भी बेनतीजा रही। जिसके चलते छात्रों ने कुलपति की कार के सामने लेटकर करीब पौन घंटे तक कुलपति को कार में ही कैद रखा। पुलिस अधिकारियों की समझाईश के बाद भी छात्र कुलपति से सकारात्मक आश्वासन की मांग पर अडे रहे। तब आखिरकार भारी पुलिस बल व आरएसी बुलाकर छात्रों को खदेड़ा गया। 


फामेर्सी में प्रवेश यथावत जारी रखने की मांग को लेकर छात्रसंघ महासचिव बबलू सोलंकी, छात्रनेता हनुमान तरड़ व भूपेन्द्रसिंह सांकडा के नेतृत्व में छात्रों ने विवि के केंद्रीय कार्यालय का मुख्य द्वार बंद करवाकर नारेबाजी व प्रदर्शन किया। इस दौरान मुख्यद्वार के बाहर भी खासी भीड़ लग गई। जिस पर भी विवि प्रशासन ने छात्रों से वार्ता नहीं की । तब आक्रोशित छात्रों ने केन्द्रीय कार्यालय के अमूमन विभागों में तालाबंदी करवा दी।


वार्ता में भी भड़के, कोई नतीजा नहीं
प्रदर्शनकारी छात्रों का एक दल ज्ञापन लेकर कुलपति से मिला।  दल ने फामेर्सी विभाग में प्रवेश चालू रखने की मांग रखी। छात्रों ने कहा कि प्रवेश आवेदन लेने के बाद प्रवेश बंद करना न्यायोचित नहीं है। छात्रों का आरोप है कि वार्ता के दौरान कुलपति के बजाय अन्य शिक्षकों ने समझाईश के साथ ही दबाव बनाया। ऐसे में छात्र तैश में आकर बाहर आ गए। छात्रनेता भूपेन्द्र सांकडा ने आरोप लगाया कि कुलपति दिनभर कुछ खास लोगों से ही घिरे रहते हैं। खुद के विवेक के बजाय खास लोगों की सलाह से ही काम कर रहे हैं। छात्रनेताओं ने कुलपति के इस्तीफे की भी मांग रखी।


पौन घंटे कार में कैद, छात्रों को खदेड़ा
छात्रों के प्रदर्शन के दौरान ही कुलपति कार में बैठकर रवाना होने लगे। जिस पर छात्रनेता कुलपति की कार के आगे लेट गए। छात्रों ने कुलपति को कार से उतार कर फामेर्सी में प्रवेश के मामले में कार्रवाई का आश्वासन देने की मांग रखी। मगर कुलपति ने कार से उतर कर वार्ता से इंकार कर दिया। जिसके चलते कुलपति करीब पौन घंटे तक कार में ही बैठे रहे और छात्र कार को चारों तरफ से घेरे रहे। पौन घंटे तक पुलिस ने भी छात्रों को मनाने के साथ ही कुलपति से भी बातचीत की। लेकिन ना तो कुलपति कार से उतरने के लिए माने और ना ही छात्रनेता कार के सामने से हटने को माने। पौन घंटे बाद आरएसी बुलाकर हल्का बल प्रयोग कर छात्रों को खदेड़ा गया। तब कुलपति रवाना हो पाए। हालांकि छात्र नेताओं ने अब उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी है।


यह रहे मौजूद
इस मौके पर वरिष्ठ उपाध्यक्ष दिनेश पंचारिया,हरेंद्र चैधरी, भूपेंद्र सिंह साकड़ा, अशोक विश्नोई, त्रिवेंद्र सिंह, राजवीर बांता, आमिर सोहेल, मोइनुद्दीन खान, दुर्ग सिंह राजपुरोहित, अर्जुन भाम्बू, अरुण भाकर, रविंद्र सिंह भाटी, जगदीश रामलाल बिश्नोई, दोलाराम गहलोत, मुकुल देवड़ा, महिपाल चौधरी, वसीम अहमद, पुष्पेंद्र सिंह, अमनदीप, राकेश गहलोत व आशीष गहलोत मौजूद थे।