Dainik Navajyoti Logo
Sunday 19th of May 2019
खेल

बहाते हैं रोज पसीना

Tuesday, May 14, 2019 11:00 AM

जयपुर। चौगान स्टेडियम ने ऐसे खिलाड़ी दिए हैं जिनका खेल जगत में सितारा चमका है। आज भी यहां पर खेल से अपना रोशन करने वाले नए यंग प्लेयर्स की कमी है। वहीं उत्साह से यंगस्टर्स यहां पर सुबह शाम आकर प्रैक्टिस करके फुटबॉल, कबड्डी, ताइक्वाण्डो, स्विमिंग, दौड़ लगाने का अभ्यास करते हैं। इस स्टेडियम से ही निकलकर कबड्डी में नवनीत गौतम ने परचम फहराया है। दो दो घंटे तक युवा यहां रोजाना आकर पसीना बहाते हैं।

कुछ समय से इस स्टेडियम पर ध्यान नहीं देने के कारण काफी बड़ा खेल मैदान होने के बावजूद यहां सुविधाएं उस तरीके की नहीं है जैसी सवाई मानसिंह स्टेडियम में प्रैक्टिस करने वाले खिलाड़ियों की होती है। रोजाना यहां 200 से 250 यंग प्लेयर्स विभिन्न खेल खेलकर खुद का अभ्यास मुकम्मल बना रहे हैं। सबसे पहले छोटे छोटे बच्चे आकर हल्का व्यायाम करते हैं। पीटी से लेकर दौड़ वगैरह की तैयारी का रुतबा कोच उनमें बचपन से भर देते हैं, ऐसे खिलाड़ी ही आगे चलकर कुछ बनते हैं। चौगान स्टेडियम इतने क्षेत्रफल में फैला हुआ है कि अगर सही तरीके से यहां पर सुविधाओं को विकसित किया जाए तो आने वाले समय में छोटे लेवल पर यहीं से नए खिलाड़ी निकलकर बड़े लेवल पर पहुंच सकते हैं।

वन्देमातरम क्लब में आते है कबड्डी के शौकीन
यह क्लब काफी समय से युवाओं को चौगान स्टेडियम पर कबड्डी की प्रैक्टिस करा रहा है इस क्लब में लड़के लड़कियां कबड्डी खेलते हैं। इस वजह से और भी कई गेम्स खेलने वालों की संख्या बढ़ी है। चौगान स्टेडियम में एक समय रस्साकसी जैसा प्रसिद्ध खेल देखने के लिए देशभर के खेलप्रेमी आते थे। ऐसे स्टेडियम को विकसित करने पर नई प्रतिभाओं को मंच तो मिलेगा। खेल को समझने वाले शौकीनों के लिए एक प्लेटफॉर्म मौजूद है।