Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of October 2019
खेल

रोहित शर्मा का दूसरी पारी में रिकॉर्ड तोड़ शतक, 395 रन के लक्ष्य के जवाब में द. अफ्रीका ने गंवाया 1 विकेट

Saturday, October 05, 2019 17:55 PM
रोहित शर्मा (फाइल फोटो)

विशाखापत्तनम। हिटमैन नाम से मशहूर रोहित शर्मा ने टेस्ट ओपनिंग डेब्यू में कमाल का प्रदर्शन जारी रखते हुए दूसरी पारी में 127 रन ठोक कर नया विश्व रिकॉर्ड बना डाला। रोहित के इस अद्भुत डबल से भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट के चौथे दिन अपनी दूसरी पारी 4 विकेट पर 323 रन पर घोषित कर मेहमान टीम के सामने 395 रन का बेहद मुश्किल लक्ष्य रखा है। रोहित ने 149 गेंदों पर 127 रन की पारी में 10 चौके और 7 छक्के लगाए। उन्होंने चेतेश्वर पुजारा (81 रन) के साथ दूसरे विकेट के लिए 169 रन की साझेदारी की। पुजारा ने 148 गेंदों की अपनी पारी में 13 चौके और 2 छक्के लगाए। पहली पारी में दोहरा शतक बनाने वाले मयंक अग्रवाल दूसरी पारी में 7 रन बनाकर आउट हुए। रवींद्र जडेजा ने तेजी से 40 रन बनाए जबकि कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 31 और अजिंक्या रहाणे ने नाबाद 27 रन बनाए। मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने स्टंप्स तक 1 विकेट खोकर 11 रन बना लिए हैं और उसे अभी जीत के लिए 384 रन की जरूरत है। एडन मारक्रम 3 और थ्यूनिस दी ब्रून 5 रन बनाकर क्रीज पर हैं। पहली पारी में 160 रन बनाने वाले डीन एल्गर दूसरी पारी में 2 रन बनाकर लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा की गेंद पर पगबाधा आउट हुए।

मैच का चौथा दिन पूरी तरह रोहित के नाम रहा। रोहित ने पहली बार टेस्ट ओपनिंग करते हुए रिकॉर्ड बुक को कई बार ध्वस्त किया और नया विश्व रिकॉर्ड बना दिया। रोहित टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में अपने पहले टेस्ट में दोनों पारियों में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। टेस्ट क्रिकेट के 142 साल के इतिहास में रोहित यह कारनामा करने वाले इकलौते बल्लेबाज हैं। रोहित लगातार 7 पारियों में 50 से ज्यादा रन बनाने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। रोहित बतौर ओपनर पहले टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। रोहित ने इस मामले में दक्षिण अफ्रीका के केप्लर वेसेल्स को पीछे छोड़ दिया है। केप्लर ने पहले टेस्ट मैच में बतौर ओपनर 208 रन बनाए थे, जबकि रोहित ने 303 रन बना दिए हैं।

हिटमैन रोहित एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले छठे भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। 41 साल बाद किसी भारतीय सलामी बल्लेबाज ने टेस्ट में दोनों पारियों में शतक लगाए हैं। रोहित से पहले सुनील गावस्कर ने 1978 में पाकिस्तान के लिए खिलाफ टेस्ट में दोनों पारियों में शतक लगाए थे। रोहित इस मैच में 13 छक्के उड़ाकर एक टेस्ट में सर्वाधिक छक्के उड़ाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन चुके हैं। उन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू के रिकॉर्ड को तोड़ा। सिद्धू ने 1994 में लखनऊ में श्रीलंका के खिलाफ 8 छक्के लगाए थे। रोहित को लेफ्ट आर्म स्पिनर केशव महाराज ने पहली पारी की तरह विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक के हाथों स्टंप कराया। दिलचस्प बात है कि इस टेस्ट से पहले रोहित कभी स्टंप आउट नहीं हुए थे और अब दोनों पारियों में इसी तरह से पवेलियन लौटे।

बतौर ओपनर पहले मैच की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले रोहित दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। अभी तक सिर्फ एक ही खिलाड़ी ऐसा था, जिसने पहले टेस्ट मैच में बतौर ओपनर शतक और अर्धशतक जड़ा था, लेकिन रोहित ने दोनों पारियों में शतक जड़कर इस रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया है। वेस्ट इंडीज के गॉर्डन ग्रीनिज ने अपने पहले मैच में बतौर ओपनर अर्धशतकीय और शतकीय (93 और 107) पारी खेली थी। रोहित का टेस्ट क्रिकेट में यह 5वां शतक था । ये पांचों शतक हिटमैन रोहित ने अपनी सरजमीं पर बनाए हैं। एक टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाने वाले रोहित छठे भारतीय बल्लेबाज हैं। उनसे पहले विजय हजारे, सुनील गावस्कर, राहुल द्रविड़, विराट कोहली, अजिंक्या रहाणे यह कारनामा कर चुके हैं। हजारे, विराट, रहाणे और रोहित ने यह कमाल एक-एक बार किया है जबकि गावस्कर ने 3 और द्रविड़ ने 2 बार टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाए हैं।

इससे पहले भारत ने चौथे दिन सुबह दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 431 रन पर समेट दिया। दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे दिन के 8 विकेट पर 385 रन से आगे खेलना शुरू किया। सेनूराम मुथुसामी 33 रन पर नाबाद रहे। दक्षिण अफ्रीका के शेष दोनों विकेट ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने झटके। अश्विन ने 46.2 ओवर में 145 रन देकर सात विकेट लिए और अपने टेस्ट विकेटों की संख्या 349 पहुंचा दी। रवींद्र जडेजा ने दो और इशांत शर्मा ने एक विकेट लिया।